in ,

कंगना ने क्यों बताया सीएम उद्धव ठाकरे को दुनिया का “अयोग्य मुख्यमंत्री” जानिए क्या है वजह…

बॉलीवुड अभिनेत्री और पंगा गर्ल के कंगना ने एक बार फिर से ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार को कटघरे में खड़ा किया हैं। कंगना ने इस बार बीएमसी के जरिए महाराष्ट्र सरकार को निशाने पर लिया है।

दरअसल, कंगना के मुताबिक बीएमसी ने कंगना के मुंबई स्थित पड़ोसियों को नोटिस भेजा है जिसके मुताबिक बीएमसी ने उनके पड़ोसियों को कंगना का सामाजिक बहिष्कार की बात कहीं है। कंगना ने ट्वीट कर कहा हैं कि “बीएमसी ने मेरे पड़ोसियों को नोटिस भेजकर उनका घर तोड़ने की बात कहीं हैं । कृपया उनका घर मत तोड़ना उन्हें कुछ नहीं किया।’

एक तरह से कंगना ने बीएमसी को निशाने पर लिया है । पिछले कुछ दिनों से कंगना और महाराष्ट्र सरकार व बीएमसी के बीच पंगा चल रहा हैं। इससे पहले भी कंगना ने ट्वीट कर उद्धव ठाकरे सरकार को निशाने पर लिया था। दरअसल, महाराष्ट्र सरकार ने एक युटबर को जेल में डाल दिया था।

जिसके पक्ष में ट्वीट करते हुए कंगना ने लिखा था, “मुंबई में यह क्या गुंडाराज चल रहा है? कोई भी दुनिया के सबसे अयोग्य मुख्यमंत्री और उसकी टीम पर सवाल नहीं उठा सकता? ये हमारे साथ क्या करेंगे? हमारे घर तोड़ेंगे और मार डालेंगे? कॉन्ग्रेस पार्टी इसके लिए जवाबदेह है?”

इसके अलावा कंगना ने पायल घोष और अनुराग कश्यप मामले को चौधरी की गिरफ्तारी से जोड़ते हुए कहा, “महाराष्ट्र सरकार के कामकाज पर सवाल उठाए जाने पर कोई व्यक्ति अचानक साहिल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा देता है, जो कि लोकतांत्रिक अधिकार है और साहिल को तुरंत जेल भेज दिया जाता है लेकिन पायल घोष ने अनुराग कश्यप के खिलाफ कई दिन पहले रेप का मामला दर्ज कराया है लेकिन वह आराम से घूम रहे हैं। क्या है यह सब कॉन्ग्रेस पार्टी?”

जिससे साफ होता है कि महाराष्ट्र सरकार और कंगना के बीच यह पंगा सहज में ही खत्म होता नहीं दिख रहा है। कंगना के वकील ने बीएमसी से 2 करोड़ की मांग की है क्योंकि उनके मुताबिक बीएमसी ने गलत तरीके से कंगना के दफ्तर को तोड़ा हैं और 2 करोड़ का नुक़सान किया हैं।

Written by Devraj Dangi

Farm Bill: एक ही ट्रैक्टर को दो जगह कांग्रेसियों ने जलाया, लोग कहने लगे 2 जी, कोल के बाद अब ट्रैक्टर घोटाला

शिया नेता रिजवी ने पीएम को पत्र लिख “द प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट -1991” को समाप्त कर इन 9 मस्जिदों को हिंदुओ को देने की मांग की