in ,

चीन ने नेपाल की पीठ में घुसा दिया खंजर, नेपाल में लगे “चीन विस्तारवाद बन्द करो” के नारे

बीते दिनों भारत पर नेपाल कि जमीन हड़पने का आरोप लग चुकी नेपाल की वामपंथी केपी ओली सरकार अब चीन की मकड़ जाल में फंसती हुई नजर आ रही हैं। चीन उसकी जमीन हड़प रहा है और चीन के कठपुतली पीएम केपी शर्मा ओली पूरे मामले पर मौन हैं।

चीन की पुरानी आदत है वह अपनी विस्तारवादी नीति के चलते पहले दोस्ती करता है फिर उसी दोस्त कि पीठ में खंजर मारता है। यही उसने 1962 में भारत के साथ किया था। एक तरफ तो वह हिंदी – चीनी भाई – भाई का नारा देता रहा और दूसरी तरफ युद्ध की तैयारी करता है।

आपको बता दे यही उसने नेपाल के साथ किया हैं, नेपाल की मीडिया खबरों के मुताबिक चीन ने नेपाल की जमीन पर कथित तौर से 9 इमारतें बना ली है। यह मामला नेपाल के कर्णाली प्रांत के हुमला ज़िला का हैं। वह चीन ने पिलर संख्या 11 को उखाड़ दिया है।

जानकारी के मुताबिक नेपाल की जमीन में 2 किमी अंदर तक चीन घुस आया है। इसके अलावा एक और अन्य जिले में भी चीन 1.5 किमी तक नेपाली सीमा में आ गया है।

जब यह नेपाल के लोगो को पता चला तो वह नेपाल कि सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन कर रहे हैं। नेपाली लोगों नारा लगा रहे हैं कि “चीन विस्तारवाद बन्द करो” साथ ही लोग प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली पर भारत की जमीन बेचने का आरोप लगाने लग गए।

इस पूरे मसले पर नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली मौन हैं जबकि नेपाल के विदेश मंत्री ने मीडिया को बताया कि “नेपाल के भू सर्वेक्षण विभाग के अनुसार चीन ने जो निर्माण किया हैं वह अपने क्षेत्र में ही किया हैं जबकि उसका चीन के साथ कोई सीमा विवाद नहीं है।

वहीं नेपाल स्थित चीनी दूतावास ने भी बताया की उसने जो निर्माण किया है वह उसकी सीमा में ही किया हैं। और उसका नेपाल के साथ कोई या किसी प्रकार का सीमा विवाद नहीं हैं ।

Written by Devraj Dangi

मोदी के संसदीय क्षेत्र की बेटी “शिवांगी” उड़ाएगी “राफेल फाइटर प्लेन” ऐसा करने वहीं देश की पहली महिला

किसानों को फिर तोहफा दे सकते हैं पीएम मोदी, अब किसान सम्मान निधि के अलावा मिले सकते हैं 5000 और