in ,

LAC पर भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, 20 दिनों में 6 अहम चोटियों पर किया कब्जा, जानिए पढ़िए ख़बर

जून के महीने से ही लद्दाख सीमा पर भारत – चीन बीच तनाव जारी हैं, बीते 3-4 महीनों में दोनों देशों की सेनाएं आमने – सामने हैं। इसी बीच पूर्वी लद्दाख के समीप चीन की सीमा पर भारतीय सेना ने पिछले २० दिनों में बड़ी कामयाबी हासिल की हैं। भारतीय जाबाजों ने बीते 20 दिनों में चीन की सीमा पर स्थित 6 नई पहाड़ियों पर अपना कब्ज़ा कर लिया हैं। रणनीतिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण इन पहाड़ियों पर चीन की भी नजर थी, लेकिन भारतीय सेना ने उसे अंजाम तक पहुंचने से पहले ही अपने अधिकार में ले लिया हैं।

दरअसल, जिन छह नई बड़ी पहाड़ियों पर भारतीय सेना ने कब्जा कर किया है जिसमें मागर हिल, गुरुंग हिल, रेजांग ला राचाना ला, मोखपारी और फिंगर 4 रिज लाइन पर सबसे बड़ी चोटियां शामिल हैं। कुछ मीडिया सूत्रों के मुताबिक, ये पहाड़ियां दक्षिण से उत्तरी किनारे तक फैली हुई हैं, इस कामयाबी ने भारत को चीन पर बढ़त हासिल करा दी हैं। यह पहाड़िया रणनीतिक रुप से बेहद महत्वपूर्ण हैं।

बीते माह 29 अगस्त को भारत और चीनी सेना के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) के साथ ऊंचाइयों पर कब्जा करने के लिए संघर्ष शुरू हुआ, जब चीनी आर्मी ने लद्दाख स्थित पैंगोंग झील के दक्षिणी तट के पास थाकुंग क्षेत्र के दक्षिण में ऊंचाइयों पर कब्जा करने की कोशिश की थी। लेकिन भारतीय रक्षा ने चीन की इस कोशिश को नाकाम कर दिया हैं।

चीन की दक्षिण लद्दाख की महत्वपूर्ण पहाड़ियों पर कब्ज़ा करने की कोशिश को नाकाम करने के लिए सेना को फायरिंग तक करनी पड़ी।

जब भारतीय सेना ने इन पहाड़ियों पर चीन की नापाक कोशिश को नाकाम कर कब्जा कर लिया, जिसके बाद चीनी सेना ने अपनी संयुक्त ब्रिगेड की लगभग 3000 अतिरिक्त टुकड़ियों को सीमा पर तैनात किया हैं । इसमें रेजांग ला और रचाना ला हाइट्स के पास इन्फैक्ट्री और बख्तरबंद सैनिक शामिल हैं। पीछे कुछ दिनों से अतिरिक्त सैनिकों के साथ चीनी सेना की मोल्डो गैरीसन भी पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी द्वारा सक्रिय की गई है। चीन अपनी ताकत में लगातर इजाफा कर रहा है।

आपको बता दे कि चीनी सेना की आक्रमकता के बाद इंडियन फोर्सेस बहुत समन्वय के साथ काम कर रही हैं। भारत के राष्ट्रीय रक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद कि खास निगरानी में सैन्य अभियान चलाए जा रहे हैं।

आपको बता दे कि एलएसी पर भारत – चीन के सैनिक के बीच कई बार आमना – सामना हो चुका है। इसी साल बीते जून के महीने में भारत – चीन के बीच गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। वहीं कई चीनी सैनिकों के मारे जाने की खबर हैं लेकिन एक सही डेटा नहीं हैं।

Written by Devraj Dangi

राज्यसभा में विपक्ष का शर्मनाक रवैया, रूल बुक फाड़ी, सभापति का माइक तोडा, दुनिया का सबसे लोकतंत्र से ये उम्मीद की जा सकती हैं क्या ?

छत्तीसगढ़ के सीएम के पिता ने भगवान श्री राम को बताया दुनिया का “सबसे बड़ा दुष्ट” आदमी, देखे पूरा वीडियो…