in ,

राज्यसभा में विपक्ष का शर्मनाक रवैया, रूल बुक फाड़ी, सभापति का माइक तोडा, दुनिया का सबसे लोकतंत्र से ये उम्मीद की जा सकती हैं क्या ?

आज राज्यसभा में जोरदार हंगमा देखने को मिला जो देश के लिए और देश के सबसे बड़े लोकतांत्रिक मंदिर के दुर्भाग्यपूर्ण हैं। विपक्षी सांसदों के संसद के उच्च सदन राज्यसभा में हंगमा किया और आसान के पास आकर रूल बुक को फाड़ दिया वही माइक को भी तोड़ दिया। इस सब के बीच कृषि से जुड़े सो महत्वपूर्ण बिल भी उच्च सदन से पास हो गए।

Credits: ANI

दरअसल, दोनों कृषि सम्बन्धी बिलों को लेकर उच्च सदन में चर्चा हो रही थी, विपक्ष के सवालों का जवाब केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर दे थे। इस बीच राजयसभा की कार्रवाई का समय खत्म हो गया था, कोरोना के चलते राज्यसभा की करवाई दोपहर 1बजे तक चलती हैं उसके बाद 2 बजे से लोकसभा की करवाई होती।

समय समाप्त होने के बाद भी राज्यसभा सभापति ने सदन का समय बढ़ा दिया, जिसकों लेकर विपक्षी दल ने आपत्ति जताई और बिल पर कल चर्चा करने की बात कही। सदन में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जवाब दे रहे थे। इस दौरान टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने उपसभापति के सामने रूल बुक फाड़ दी। डेरेक ओ ब्रायन और तृणमूल कांग्रेस के बाकी सांसदों ने आसन के पास जाकर रूल बुक दिखाने की कोशिश की और उसको फाड़ा। इस दौरान विपक्षी सांसदों ने आसान का माइक को भी तोड़ दिया।

Also Read this: यौन शोषण के आरोपी अनुराग ने, ‘ज़िप, लिंग, योनि’ मामले में ट्वीट के जरिए पायल से आरोप से किया खुद का बचाव

Also Read this: ‘अनुराग कश्यप ने C### को जबरन मेरी Vagina में डालने का प्रयास किया’: पायल घोष का फिल्म निर्माता पर यौन शोषण का आरोप

टीएमसी ने सरकार पर बड़ा आरोप लगाया हैं। टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने सरकार पर धोखा देने का आरोप लगाया है, उन्होंने कहा कि सरकार ने संसद में हर नियम को तोड़ दिया। वे राज्यसभा टीवी के फीड काटते हैं ताकि देश देख न सके। उन्होंने RSTV को सेंसर कर दिया। हमारे पास सबूत हैं।

सदन में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सांसद वेल में पहुंच गए। कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा राज्यसभा का समय ना बढ़ाएं। मंत्री का जवाब कल हो, क्योंकि अधिकतर लोग यही चाहते हैं। राज्यसभा का समय 1:00 बजे तक है लेकिन सरकार चाहती है कि इस बिल को आज ही पास किया जाए। विपक्ष के हंगामे के बीच नरेंद्र सिंह तोमर जवाब दे रहे हैं। इस बीच, सदन में हंगामा कर रहें सांसदो ने आसन के सामने लगे माइक को तोड़ दिया है।

सदन में बिल का विरोध करते हुए आम आदमी पार्टी ने इस बिल को काला कानून बताया तो शिवसेना नेता संजय रावत ने सदन में सरकार और प्रधानमंत्री से पूछा कि आपकी मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने क्या गलत फेमि, झूठी ख़बरों या भ्रम के चलते इस्तीफा दिया। दरअसल कुछ दिन पहले पीएम ने किसानों से आग्रह किया था की वह झूठी ख़बरों में ना आये, भ्रमित ना हो।

इस सब के बीच राज्य सभा में ध्वनी मत से किसान बिल राज्यसभा से पास हो गया है। कृषि संबंधित दो बिल ध्वनि मत से पास हुए हैं। कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक, 2020 और कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020से पास हो गए हैं। यह दोनों बिल लोकसभा से पहले ही पास हो चुके हैं।

इन बिलों को लेकर विपक्ष लगातर विरोध कर हैं तो देश के कई हिस्सों में इसका विरोध कर हैं, किसान संगठन इसका जगह – जगह विरोध कर रहे हैं। खुद सरकार में शामिल उनका सहयोगी दल शिरोमणि अकाली दल भी इसके विरोध में और उनके कोटे से मोदी कैबिनेट की सदस्य हरसिमरत कौर बादल ने लोकसभा सेबिल पास होने से पहले ही मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया हैं। जिसे राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया हैं।

Written by Devraj Dangi

यौन शोषण के आरोपी अनुराग ने, ‘ज़िप, लिंग, योनि’ मामले में ट्वीट के जरिए पायल से आरोप से किया खुद का बचाव

LAC पर भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, 20 दिनों में 6 अहम चोटियों पर किया कब्जा, जानिए पढ़िए ख़बर