in

UP: पहले प्रेमजाल, धर्मांतरण की आड़ में हिन्दू लड़कियों के उत्पीड़न और लव जिहाद पर योगी सख्त, जल्द लाएंगे अध्यादेश

उत्तरप्रदेश फ़िलहाल बढ़ते लव जिहाद के मामलों को लेकर चर्चा में हैं, यूपी में एक के बाद एक लव जिहाद मामले सामने आ रहे हैं। इसकी रोकथाम को लेकर सूबे की योगी सरकार सख्त कदम उठाने की तैयारी में हैं। जानकारी के मुताबिक लव जिहाद की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए सरकार जल्द ही अध्यादेश लेकर आने की तैयारी में हैं।

देश के प्रतिष्ठित अख़बार टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक वरिष्ठ सरकारी के हवाले से अधिकारी के हवाले से बताया, “अन्य राज्यों के धर्मांतरण के खिलाफ बने कानूनों और अधिनियमों की स्टडी की जा रही है। इसके बाद धर्मांतरण को लेकर उत्तर प्रदेश का अपना कानून बनाया जाएगा।”हैं हैं आपको बता दे कि सरकार पर दबाव हैं।

उत्तरप्रदेश सबसे बड़ा राज्य हैं जहाँ धर्म परिवर्तन पर अंकुश लगाने की कार्रवाई का श्रेय राज्य भर में विशेष रूप से कानपुर में हुए हालिया लव जिहाद के मामलों को दिया जा सकता है, जहाँ हिन्दू लड़कियों पहले प्रेम जाल में फंसाया जाता हैं और फिर शादी के बहाने इस्लाम धर्म में परिवर्तित किया जा रहा है। इस मामले पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत ने भी अपने लखनऊ प्रवास के दौरान प्रमुखता से उठाया था। भागवत ने अपने दो दिन की लखनऊ यात्रा के दौरान उन्होंने लव जिहाद के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई थी। वाकई यह चिंता वाला विषय भी हैं।

आपको बता दे कि वर्तमान में 8 राज्यों में धर्मांतरण और लव जिहाद के खिलाफ कानून मौजूद हैं। इन राज्यों में अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, झारखंड और उत्तराखंड शामिल हैं। इस विषय पर सबसे पहले 1967 में ओडिशा द्वारा कानून बनाया गया था। फिर इसके बाद 1968 में मध्य प्रदेश में धर्मांतरण के खिलाफ कानून बनाया गया।ऐसा कानून बनाने वाला 8 वां राज्य होगा।

इसी हफ्ते कानपुर पुलिस ने शुरुआत में शादी के बहाने की गई जबरन धर्मांतरण की घटनाओं की बढ़ती संख्या की जाँच के लिए एक आठ सदस्यीय विशेष जाँच दल (SIT) का गठन किया था। पिछले एक महीने में एक ही जिले से ‘लव जिहाद’ के 11 मामले प्रकाश में आए थे। जो अपने आप में आप में चौकाने वाला हैं।

पिछले कुछ में जहाँ पूरे राज्य में लव जिहाद के कई मामले सामने आए हैं, वहीं प्रदेश का कानपुर संगठित लव जिहाद मामलों का एक केंद्र बन गया है। शादी के बहाने शहर में रिपोर्ट की गई कई महिलाओं के जबरन धर्म परिवर्तन के कई मामले सामने आए हैं। जिससे शहर में हिंदू महिलाओं को फँसाने के लिए इसके पीछे किसी गिरोह की सोची समझी चाल पर संदेह उत्पन्न हो गया है। इस बात को हमने अपनी पिछली रिपोर्ट में भी उठाया था।

उत्तरपतदेश का बहुप्रचारित शालिनी यादव मामले के बाद ‘लव जिहाद’ के कानपुर से कई मामले आए है। जिसमें महज पिछले 2 महीने में कानपुर इलाके में घर से 5 लड़कियाँ मुस्लिम युवकों के साथ भागी गई है। वही कानपुर के जूही कॉलनी में चल रहे लव जिहाद का संगठित नेक्सस या ट्रेनिंग इन्हीं भागी लड़कियों के आधार पर आप समझ सकते हैं। हमने अपनी पिछली रिपोर्ट में इसके को लेकर संगठित गिरोह के होने की आशंका जताई थी।

Written by Devraj Dangi

तारिक फ़तेह का दावा: 26 जैन मंदिरों को तोड़कर बनाई थी ‘क़ुतुबमीनार’, नहीं होना चाहिए सेलिब्रेट

चुनाव से पहले यौन शोषण के आरोप पर घिरे ट्रम्प, पूर्व मॉडल एमी डोरिस का आरोप जबरन ये किया था ट्रम्प ने