in

ईरानी मुस्लिम युवक व AtheistRepublic.com के संस्थापक ने कुरान पर थूका और उसके पन्नों को फाड़ दिया, कहा- ‘कुरान का अपमान करो’

एथीस्ट रिपब्लिक डॉट कॉम (AtheistRepublic.com) के संस्थापक और पूर्व ईरानी मुस्लिम अर्मिन नवाबी, इस्लाम धर्म के मुखर आलोचक माने जाते हैं। अर्मिन नवाबी ने मुस्लिमों की पवित्र पाक पुस्तक कुरान पर थूककर उसको फाड़ दिया हैं। साथ ही अर्मिन ने लोगों से भी निजी जिम्मेदारी पर ऐसा ही करने की सलाह दी हैं। यानी उन्होंने लोगों से इस्लाम की पाक किताब कुरान को थूककर फाड़ने की बात कही हैं।

पूर्व ईरानी मुस्लिम और इस्लाम आलोचक अर्मीन नवाबी ने मंगलवार (सितम्बर 01, 2020) को ट्विटर पर एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें वह कुरान के पन्नों पर थूकते हैं और फिर उसके पन्ने फाड़ देते हैं। इसके साथ ही उन्होंने एक हैशटैग लिखा है – “कुरान का अपमान करो।” अर्मिन मुस्लिम धर्म के बड़े आलोचक माना जाता हैं और वह इससे पूर्व भी इस्लाम धर्म की आलोचना कर चुके हैं।

इस्लाम आलोचक अर्मीन नवाबी का यह ट्वीट ऐसे समय में आया है जब पेरिस की ”शार्ली एब्दो मैगजीन” पर वर्ष 2015 में हुए आतंकी हमले की सुनवाई शुरू हो रही है। शार्ली एब्दो मैगजीन ने फिर से पैगंबर मोहम्मद का कार्टून छापा है और कार्टून के साथ छपने वाले संपादकीय में कहा है, ‘हम कभी झुकेंगे नहीं, हम कभी हार नहीं मानेंगे।’ इस मैगज़ीन पर 2015 में मुस्लिम कटटरपंथियों ने हमला कर दिया था।

मुस्लिम आलोचक अर्मीन नवाबी के इस ट्वीट में कई तरह की प्रतिक्रियाएँ देखने को मिली हैं। कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने कुरान की सिर्फ प्रति फाड़ी है वास्तविक कुरान नहीं। इस ट्विटर यूजर ने लिखा है कि कुरान लोगों के दिलों और दिमाग में छपी है, वह उसे नहीं छेड़ सकता। यानी कुछ लोगों ने अर्मिन का साथ दिया तो कुछ ने विरोध भी किया।

पूर्व ईरानी मुस्लिम अर्मीन के ट्वीट पर एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा है कि ”अर्मीन नवाबी कुरान का अपमान करने के बजाय सामान्य शब्दों में यह भी कह सकते थे कि उन्हें यह पसंद नहीं है।”

एक और अन्य ट्विटर यूजर्स ने कुरान जलाते हुए वीडियो भी ट्वीट किया है। यह इस्लाम का विरोध भारत में नहीं बल्कि विदेश में हो रहा हैं , और इससे अंजाम देने वाले कोई हिन्दू, सिख, ईसाई या अन्य धर्मावलम्बी नहीं बल्कि खुद मुस्लिम समुदाय को मानने वाले लोग शामिल हैं।

एथीस्ट रिपब्लिक डॉट कॉम के संस्थापक अर्मीन नवाबी ने एक और अन्य ट्वीट में लिखा है कि ‘कुरान के अपमान वाले वीडियो तभी बनाएँ अगर आपको यह सेफ लगता है।’ यानी उन्होंने लोगों से अपील की हैं कि क़ुरान के अपमान वाले और भी वीडियो बनाये साथ ही उन्होंने लोगों से यह भी अपील की कि यह तभी करे जब आप सुरक्षित महसूस करे। शायद उन्होंने इस्लामिक कटटरपंथियों के निशाने से सुरक्षित रहने के लिए किया हैं।

आपको बता दे कि ‘THE YOUTH’ इस तरह की घटना का समर्थन नहीं करती हैं, हमारा मानना हैं कि सभी धर्मों और उनके धर्म ग्रंथों का हमें सम्मान करना चाहिए। आपका विश्वास हो या नहीं हो लेकिन किसी दूसरे के विश्वास या आस्था का अपमान करना गलत हैं।

Written by Devraj Dangi

दीदी के बंगाल में क्या हिन्दू असुरक्षित हैं, ‘काली माँ की मूर्तियों को जिहादियों ने जला डाला ? बीजेपी सांसद का आरोप !

फ्रांस की ‘शार्ली एब्दो मैगज़ीन’ द्वारा पैगम्बर मुहम्मद पर प्रकाशित कार्टून का फ्रांस के राष्ट्रपति ने किया समर्थन, बोले ‘नहीं करूँगा निंदा, प्रेस की स्वतंत्रता है’