in ,

शहीद मनीष कारपेंटर की पत्नी बोली, ‘पति की शहादत पर फक्र है’, 9 माह पहले मांग में भरा था सिंदूर, मिट गया आज, हजारों लोगों ने नम आँखों से किये भारती के लाल के अंतिम दर्शन!

राजगढ़: माँ भारती के लाल शहीद जवान मनीष कारपेंटर की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, हजारों आँखे थी नम, भारत माता की जय से गूंजा पूरा मार्ग, लोगों ने वीर शहीद की शहादत को किया नमन। कोरोना के बावजूद हजारों की संख्या में लोगों ने निकल कर अपने लाल के अंतिम दर्शन किये।

शुक्रवार को जम्मू – कश्मीर के बारामूला में आतंकी हमले के चार जवान शिकार हो गए थे। जानकारी के अनुसार मनीष बतौर सैनिक सेना में पदस्थ था। कुछ आतंकियों द्वारा बम पिछाये गए थे, जिस पर पैर रखा जाने से उस विस्पोट हो गया और इस आतंकी घटना में सेना के चार जवान घयाल हो गए थे। उन्हें बाद में अस्पताल ले जाया गया लेकिन मनीष कारपेंटर ने अपने प्राण देश की रक्षा के लिए न्योछावर कर दिए।

Manish Karpentar and His Wife along With His Parents, Credits: Dainik Bhaskar

शहिद मनीष कारपेंटर मध्यप्रदेश के राजगढ़ ज़िले के अंतर्गत आने वाले खुजनेर के निवासी थे, 10 माह पहले ही पिछले साल शुजालपुर की रहने वाली लड़की से उनकी शादी हुई थी। बताया जा रहा हैं कि उनके बड़े भाई भी भारतीय सेना में हैं।

उनकी शहादत पर उनके पिता ने कहा, ‘मुझे अपने बेटे के बलिदान पर गर्व हैं, उन्होंने हमारा मस्तक गर्व से ऊंचा कर दिया हैं।’ वही शहीद की पत्नी ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘उसे उनकी (मनीष कारपेंटर) के शहादत पर फक्र हैं, वह अब आजीवन उनके माता – पिता (शहीद मनीष कारपेंटर के माता -पिता) यानी उनके सास – ससुर की सेवा करेगी।’

शहीद मनीष की पत्नी ने बताया की जब उनकी मनीष से बात आखिरी बार जब बात हुई तो उन्होंने जल्द आने का कहा था, उन्होंने बताया कि जब फ़ोन पर बात पर मैंने उनसे कहा कि मेरा कोई नहीं हैं यहा, मुझे बुरा लगता हैं तो उन्होंने (मनीष) ने कहा था कि चिंता क्यों करती हैं मैं हूँ ना।’

शहीद जवान मनीष की पार्थिव देह पहुंची भोपालइस तरह खुश था शादी के दौरान शहीद जवान मनीष राजगढ़- जिले के खुजनेर में रहने वाले मनीष विश्वकर्मा हाल ही में एक आतंकी साजिश का शिकार हुए और आतंकवादियों द्वारा किए गए विस्फोट में वह शहीद हो गए पूरा जिला इस घटना को लेकर शोक में है कल सुबह 10:00 बजे तक उनका पार्थिव शरीर खुजनेर पहुंच सकता है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हो सखते है अंतिम यात्रा में शामिल जिसकी तैयारियां जोरों पर हैं। पचोर से ही एक बड़ा काफिला खुजनेर तक पहुंचेगा कुछ इस तरह के संकेत फिलहाल मिल रहे हैं और रास्ते भर पुष्प वर्षा के साथ शहीद मनीष शहादत का का स्वागत होगा। 10 माह पहले किसी ने सोचा भी नहीं था की अपनी शादी को लेकर इतना खुश नजर आने वाला शहीद जवान आतंकियों की साजिश का शिकार हो जाएगा यह वीडियो मनीष की शादी का है जिसमें वह अपनी पत्नी आरती के साथ प्रसन्न मुद्रा में नजर आ रहे हैं।

Patrika Rajgarh ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಮಂಗಳವಾರ, ಆಗಸ್ಟ್ 25, 2020

पुरे प्रदेश और राजगढ़ जिले को अपनी माटी के लाल के बलिदान पर एक ओर गर्व है तो दूसरी ओर नम आँखों में पानी, मनीष की शहादत की खबर सुन पुरे प्रदेश समेत राजगढ़ जिले में गर्व की अनुभूति के साथ शोक की लहर दौड़ गई।

MANISH KARPENTER DANCE WITH HIS WIFE DURING MARRIAGE

मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शहीद के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन किये और उन्हें पुष्पचक्र अर्पित कर श्रदांजलि दी। मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘मां भारती के वीर सपूत स्व. मनीष कारपेंटर जी ने देश की एकता, अखण्डता के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है। खुजनेर को उन पर गर्व है, मध्यप्रदेश को उन पर गर्व है, मां भारती को उन पर गर्व है। मध्यप्रदेश की आठ करोड़ जनता की ओर से उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूं।”

मुख्यमंत्री ने शहीद के परिवार को प्रदेश सरकार की तरफ से एक करोड़ की आर्थिक मदद का एलान किया और परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी देने की बात कही, सीएम ने उनकी प्रतिभा और उनके नाम से मार्ग बनने की भी घोषणा की हैं।

शहीद मनीष के शहादत पर पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा, ‘मनीष का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा’, पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, सांसद रोडमल नागर समेत सभी नेताओं ने उनकी शहादत को नमन किया।

Written by Devraj Dangi

स्वघोषित सेक्युलर पत्रकार आखिर इस्लामिक कट्टरपंथियो और पाक आतंकियों के दुलारे क्यो हैं? इन पत्रकारों को देना होगा जबाब

कांग्रेसियों को पता ही नहीं कि उनकी पार्टी में कौन-कौन हैं