in ,

लव जिहाद: धर्म परिवर्तन कर शालिनी से फिजा बनी युवती ने कहा- मम्मी प्लीज मुझे बचा लो

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में फिजा फातिमा बन चुकी शालिनी यादव (Shalini Yadav) लव जिहाद (Love Jihad) मामला तूल पकड़ने लगा है. शालिनी यादव के परिजन के अलावा एक और परिवार ने आईजी रेंज मोहित अग्रवाल (IG Mohit Agrawal) से बात कर मामले में कार्रवाई की मांग की है. वहीं मीडिया के बात करते समय शालिनी यादव की मां का बड़ा बयान सामने आ रहा है. मां का कहना है कि बेटी का एक दिन फोन आया था मम्मी मुझे बचा लो, ये लोग टॉर्चर कर रहे, इन्होंने मेरा पैसा भी छीन लिया है.

आईजी मोहित अग्रवाल के पास शिकायत लेकर पहुंचीं शालिनी की मां सतरूपा यादव ने मीडिया से बातचीत की. उनका कहना है कि शालिनी यादव का ब्रेन वॉश कराया गया था, तभी उसने इतना बड़ा कदम उठा लिया, उसने यह उनसबके दबाव में किया, आज जो भी वह कह रही है किसी के दबाव में ही बोल रही है. सतरूपा यादव ने बताया कि उनके पास शालिनी का फोन आया था जिमनें उसने कहा कि मम्मी मुझे बचा लो, ये लोग मुझे टॉर्चर कर रहे हैं. मेरा पैसा छीन लिया गया है. उन्होेंने बताया कि शालिनी करीब 10 लाख रूपए घर से लेकर गई है. मां के मुताबिक उन्होंने कई बार फोन करने की कोशिश की लेकिन बेटी से संपर्क नहीं हो पा रहा है.

शालिनी के भाई अभिषेक यादव ने बताया कि उसका ब्रेन वाश किया गया है. उसे नहीं पता है कि परिवार और समाज के खिलाफ क्यों बोल रही है. मैं यह चाहता हूं कि प्रशासन शालिनी को बुलाए और फैसल से अलग रखकर बात की जाए. न मैं और न मेरे परिवार का कोई सदस्य फैसल को जनता है. मैं बर्रा में रहता हूं और मामला जूही कॉलोनी का है. भाई ने बताया कि शालिनी घर से 10 लाख रुपए लेकर भागी थी. हमारी मांग है कि शालिनी को कोर्ट में पेश किया जाए, भाई ने शालिनी से भी अपील भी की है कि वह घर लौट आए और परिवार उसे स्वीकार करने को तैयार है.

बता दें कि शालिनी यादव 29 जून को घर से परीक्षा देने के लिए निकली तो वापस नहीं लौटी. वह दस लाख रुपये की रकम भी ले गई थी. गुरुवार को फेसबुक पर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें शालिनी ने दावा किया उसने धर्म परिवर्तन कर अपना नाम फिजा फातिमा रख लिया है और फैसल नाम के एक युवक से निकाह कर लिया है, फैसल लाल कॉलोनी का रहने वाला है.

Written by Ojas Nihale

एक लेखक अपनी कलम तभी उठाता हैं, जब उसकी संवेदनाओ पर चोट हुई हों !! पत्रकारिता में स्नातकोत्तर...
कभी सही कभी गलत, जैसा आपका नजरिया !

कांग्रेस मे फुट: अब सोनिया के खास अहमद पटेल ने कहा- गेर-गांधी भी बन सकता है पार्टी अध्यक्ष

कश्मीर की 23 वर्षीय ‘इंशा जान’ ने कि थी पुलवामा हमले में शामिल आतंकियों की मदद, आतंकियों के लिए रहने – खाने की करती थी व्यवस्था