in

कमलनाथ पुलिस मंदिर के पुजारियों से बार बार लिखवा रही है ‘राष्ट्रद्रोह’ जानिए क्या है पूरा मामला

एक तरफ़ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद को भाजपा से बड़ा ‘गौभक्त’ साबित करने में लगे हैं, और दूसरी तरफ़ उनकी पुलिस के कर्मचारी गाँधी जी के कटआउट के साथ छेड़-छाड़ में किसी और को न पकड़ पाने पर अब मन्दिर के पुजारियों को मामले में फँसाने की कोशिश कर रहे हैं। गाँधीजी के कट-आउट पर लिखे ‘राष्ट्रद्रोही’ से लक्ष्मण बाग़ मन्दिर के पुजारियों की लिखावट मिलाने के लिए उनसे बार-बार ‘राष्ट्रद्रोही’ लिखने को कहा जा रहा है। मीडिया की खबरों के अनुसार अब तक 6 पन्ने भर कर उनसे यही शब्द लिखवाया जा चुका है, और इससे व्यथित पुजारियों के अन्न-जल त्यागने की भी खबर आ रही है।

उल्लेखनीय है कि 2 अक्टूबर गांधी जयंती के दिन मध्य प्रदेश के रीवा जिले में स्थित मेमोरियल में से राष्ट्रपिता गाँधी जी की चिता की राख चोरी कर ली गई थी। इतना ही नहीं, चोरों ने उनके पोस्टर पर ‘राष्ट्रद्रोही’ भी लिख दिया। ‘बापू’ के उपनाम से प्रख्यात रहे गाँधी जी की चिता की राख को लक्ष्मण बाग स्थित बापू भवन में रखा गया था, जहाँ ये घटना हुई। बापू भवन का निर्माण 1948 में किया गया था और तब से ही लक्ष्मण बाग ट्रस्ट इसकी देखभाल करता रहा है।

लिखावट का नमूना आखिर कितना चाहिए?

मन्दिर के पुजारियों का आरोप है कि रोज़ाना उन्हें बुलाकर नए सिरे से कोरे कागज़ पर ‘राष्ट्रद्रोही’ लिखवाया जाता है। अब तक 6 पन्ने भरे जा चुके हैं। थाने के पुलिस वालों का कहना है कि यह लिखावट के नमूने के लिए किया जा रहा है।

खाना-पीना छोड़ा तो पहुँचे आईजी-एसपी

यह विडम्बना की ही बात है कि जिन मोहनदास करमचन्द गाँधी की तस्वीर पर ‘राष्ट्रद्रोही’ लिखने का आरोप लगाकर पुजारियों का उत्पीड़न हो रहा है, उन्हीं की तरह पुजारियों को अनशन भी करना पड़ रहा है। जब आरोपित पुजारियों ने खाना-पीना छोड़ दिया तो आईजी चंचल शेखर, एसपी आबिद खान, डीआईजी अविनाश श्रीवास्तव उनसे मिलने पहुँचे। तब ही जाकर पुजारियों को प्रशासन की तरफ़ से निष्पक्षता का आश्वासन भी मिला।

Written by Ojas Nihale

एक लेखक अपनी कलम तभी उठाता हैं, जब उसकी संवेदनाओ पर चोट हुई हों !! पत्रकारिता में स्नातकोत्तर...
कभी सही कभी गलत, जैसा आपका नजरिया !

तीन वैज्ञानिको को रसायन का नोबेल, मोबाईल की लिथियम बैटरी पर काम के लिए मिला पुरुस्कार

दुर्गा पंडाल में मुस्लिम युवक की धमकी – कॉलोनी में रहना हे तो असलम भाई असलम भाई कहना है, यहाँ मोदी नहीं आएगा बचाने