in

मोदी सरकार का गांधी परिवार पर शिकंजा, अब विदेशी दौरों में भी साथ रहेगा एसपीजी का पहरा

Image result for spg

स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) सुरक्षा के नियमों को लेकर केंद्र सरकार सख्त हुई है। इस विशेष सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति को अपने विदेशी दौरों पर भी जवानों को साथ ले जाना होगा। न केवल पीएम मोदी, बल्कि अन्य शख्सियत भी, जिन्हें ये सुविधा प्राप्त है, उनके साथ एसपीजी के जवान भी विदेश दौरा करेंगे और उनकी सुरक्षा करेंगे।
पहले ऐसा नहीं होता था, लेकिन अब केंद्रीय गृह मंत्रालय सरकार नियम में बदलाव कर रही है। सरकार के इस फैसले को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और गांधी परिवार के अन्य सदस्यों के दौरों से जोड़ कर देखा जा रहा है।

देश में प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों को एसपीजी सुरक्षा दी जाती रही है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी एसपीजी सुरक्षा दी जाती थी, लेकिन हाल ही में उनकी सुरक्षा थोड़ी कम करते हुए जेड प्लस श्रेणी में तब्दील कर दी गई।

वर्तमान में एसपीजी सुरक्षा की सुविधा पीएम मोदी के अलावा गांधी परिवार को मिलती है। कांग्रेस की अंतरिम अक्ष्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महसचिव प्रियंका गांधी को यह सुविधा दी गई है।

स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) को लेकर मोदी सरकार के दिशा-निर्देश के बाद कांग्रेस का बयान आया है. कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि इसपर हमें कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है. उन्होंने कहा, सुरक्षा बहुत संवेदनशील मामला है और इसपर चर्चा की जानी चाहिए.

सुरक्षा को लेकर नए निर्देश

केंद्र की ओर से दिए गए नए दिशा-निर्देश में स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की सुरक्षा पाने वाले के लिए सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा. एसपीजी के सुरक्षाकर्मी हमेशा यह विशेष सुरक्षा पाने वाले के साथ मौजूद रहते हैं.
माना जा रहा है कि इस दिशा-निर्देश को नहीं माने जाने की सूरत में सुरक्षा के लिहाज से उनकी विदेश यात्रा भी रद्द कर दी जाएगी.

Written by Ojas Nihale

एक लेखक अपनी कलम तभी उठाता हैं, जब उसकी संवेदनाओ पर चोट हुई हों !! पत्रकारिता में स्नातकोत्तर...
कभी सही कभी गलत, जैसा आपका नजरिया !

कोशिकाओं पर शोध के लिए तीन वैज्ञानिको को चिकित्सा का नोबेल, 8 अक्टूबर को भौतिकी के नोबेल की घोषणा

मॉब लिंचिंग से संघ का कोई लेना देना नहीं, यह हिन्दुओ को बदनाम करने की साजिश – मोहन भागवत