in

150 वी गांधी जयंती : सत्य अहिंसा की अद्भुद मिसाल जिसने बदल दिया इतिहास

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर दुनिया बापू को याद कर रही है. देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई दिग्गजों ने महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी. अब संयुक्त राष्ट्र ने भी महात्मा गांधी को याद किया है और अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस की शुभकामनाएं दी हैं.

इसी कड़ी में एक बड़ा आयोजन गुजरात में होने जा रहा है जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बापू की 150वीं जयंती पर देश को खुले में शौच मुक्त घोषित करने वाले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात के दौरे पर होंगे और इस दौरान शाम को आयोजित कार्यक्रम में वो यह ऐलान करने वाले हैं। अपने इस दौरे पर शाम करीब छह बजे यहां पहुंचने के बाद वह सात बजे गांधी आश्रम जाएंगे और बापू को श्रद्धांजलि देंगे। इसके बाद पीएम मोदी साबरमती रिवर फ्रंट पर देश भर से आए 20 हजार सरपंचों को संबोधित करेंगे। इसी समारोह में वह देश के खुले में शौचमुक्त होने की घोषणा करेंगे।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने भी इस मौके पर ट्वीट किया और लिखा कि महात्मा गांधी ने एक ऐसे अहिंसक आंदोलन की शुरुआत की, जिसने इतिहास बदल दिया. संयुक्त राष्ट्र में हम महात्मा गांधी के आदर्शों को ही आगे बढ़ा रहे हैं.इस अवसर पर संयुक्त राष्ट्र की ओर से ट्वीट किया गया कि महात्मा गांधी के आदर्श हमें किसी भी तरह की मुश्किल परिस्थिति का सामना अहिंसा से करने की प्रेरणा दे सकते हैं.

महात्मा गांधी को लोग प्यार से बापू भी कहते है,यह उपाधि उन्हें सुभाष चंद्र बोस ने दी थी ,महात्मा गांधी ने कहा था की विनम्र तरीके से व्यवहार कर आप दुनिया को भी हिला सकते है.
बापू की 150 वि जयंती पर हम आपको उनके ऐसे ही अनमोल विचारो से अवगत करवाएंगे जो आपकी दुनिया ही बदल देंगे –

गांधी जी सत्य और अहिंसा के पूजारी थे. महात्मा गांधी को विश्व पटल पर अहिंसा के प्रतीक के तौर पर जाना जाता है. गांधी जी ने देश की आजादी के लिए जो किया उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है. गांधी जी ने अपना जीवन सत्य की व्यापक खोज में समर्पित कर दिया था. उन्होंने इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपनी स्वयं की गलतियों और खुद पर प्रयोग करते हुए सीखने की कोशिश की.

उन्होंने अपनी आत्मकथा को सत्य के प्रयोग का नाम दिया था. बापू के विचार (Mahatma Gandhi Quotes) देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोगों को प्रेरित करते हैं. गांधी जी के विचारों को अपनाकर हम भी सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चल सकते हैं

Written by Ojas Nihale

एक लेखक अपनी कलम तभी उठाता हैं, जब उसकी संवेदनाओ पर चोट हुई हों !! पत्रकारिता में स्नातकोत्तर...
कभी सही कभी गलत, जैसा आपका नजरिया !

”हनीट्रैप” : ब्लैकमेलिंग के मिले पैसो को खपाने के लिए कई कंपनिया चलाती थी आरोपित लड़किया

150 वी गांधी जयंती : दिल्ली में राहुल, तो लखनऊ में प्रियंका गांधी की पदयात्रा