in

बाहर धड़कता हुआ दिल, कुदरत का ऐसा करिश्मा आपने देखा क्या ?

शोसल मीडिया का दायरा इतना व्यापक हों चूका है की हर खबर हर चीज़ या किसी भी तरह के वीडियो अब आप तक आसानी से पहुंच जाते है !
जिनमे कुछ वीडियो आपको हतप्रभ कर देते है तो कुछ आश्चर्यचकित
आपने ”दिल दहला देने वाला’ जैसा शब्द तो अनेको बार सुना ही होगा लेकिन क्या आपने कभी सच में दिल दहलते हुए या दिल धड़कते हुए देखा है क्या वो भी मानव शरीर के बाहर ?
जी हां ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर हों रहा है
आपको बता दे की यह वीडियो शारीरिक या बौद्धिक रूप से सशक्त इंसान का नहीं,बल्कि जन्म लिए हुए बच्चे का है जिसका दिल उसके शरीर के बाहर धड़क रहा है
और डॉक्टर भी कुदरती चमत्कार के सामने हैरत में है !
यूँ तो मापने आँखे खुली कर देने वाले अनेको वीडियो देखे होंगे लेकिन यह न सिर्फ हैरतअंगेज बल्कि अविश्वनीय भी है
हालाँकि उस मासूम की पीड़ा का भी हम वर्णन नहीं कर सकते…
प्राकृतिक तौर पर दिल बाहर लेकर जन्मे मासूम को अब ईश्वर रूपी डॉक्टरी हाथों व मानवीय संवेदनाओ की आवश्यकता है ! शोसल मीडिया का दायरा इतना व्यापक हों चूका है की हर खबर हर चीज़ या किसी भी तरह के वीडियो अब आप तक आसानी से पहुंच जाते है ! जिनमे कुछ वीडियो आपको हतप्रभ कर देते है तो कुछ आश्चर्यचकित आपने ”दिल दहला देने वाला’ जैसा शब्द तो अनेको बार सुना ही होगा लेकिन क्या आपने कभी सच में दिल दहलते हुए या दिल धड़कते हुए देखा है क्या वो भी मानव शरीर के बाहर ? जी हां ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर हों रहा है आपको बता दे की यह वीडियो शारीरिक या बौद्धिक रूप से सशक्त इंसान का नहीं,बल्कि जन्म लिए हुए बच्चे का है जिसका दिल उसके शरीर के बाहर धड़क रहा है और डॉक्टर भी कुदरती चमत्कार के सामने हैरत में है ! यूँ तो मापने आँखे खुली कर देने वाले अनेको वीडियो देखे होंगे लेकिन यह न सिर्फ हैरतअंगेज बल्कि अविश्वनीय भी है हालाँकि उस मासूम की पीड़ा का भी हम वर्णन नहीं कर सकते… प्राकृतिक तौर पर दिल बाहर लेकर जन्मे मासूम को अब ईश्वर रूपी डॉक्टरी हाथों व मानवीय संवेदनाओ की आवश्यकता है !

Written by Ojas Nihale

एक लेखक अपनी कलम तभी उठाता हैं, जब उसकी संवेदनाओ पर चोट हुई हों !! पत्रकारिता में स्नातकोत्तर...
कभी सही कभी गलत, जैसा आपका नजरिया !

बीबीसी हिंदी का प्री-प्लांड भारत विरोधी एजेंडा

एक एक मर्द की सरपरस्ती में पचास-पचास औरते होगी ये अल्लाह का फरमान है – अंजुम रिजवी